September 26, 2022
Andrei Pivovarov: रूस के विपक्षी कार्यकर्ता को हुई 4 साल की जेल

Andrei Pivovarov: रूस के विपक्षी कार्यकर्ता को हुई 4 साल की जेल

Spread the love

Andrei Pivovarov: रूस (Russia) के विपक्षी कार्यकर्ता आंद्रेई पिवोवरोव को चार साल की सज़ा सुनाई गई है. एक प्रतिबंधित लोकतंत्र समर्थक समूह का नेतृत्व करने के मामले में उनको ये सज़ा दी गई है. आंद्रेई पिवोवरोव (Andrei Pivovarov) 40 साल के हैं. आंद्रेई पिवोवरोव (Andrei Pivovarov) ओपन रूस के प्रमुख भी रह चुगे हैं.

पिवोवरोव को हुई चार साल की सज़ा

दक्षिणी रूसी शहर क्रास्नोडार (Krasnodar) की एक अदालत ने आंद्रेई पिवोवरोव (Andrei Pivovarov) को एक अमानवीय संकठन चलाने के आरोप में सज़ा सुनाई है. मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक, 2015 के कानून के तहत ये एक आपराधिक अपराध है. पिवोवरोव का कहना है की,  उनके खिलाफ आरोप सितंबर 2021 में संसद चलाने की उनकी योजना के कारण लाए गए थे.

फ़ैसला होने के बाद आंद्रेई पिवोवारोव के सहयोगियों ने लिखा है की, “आंद्रेई पिवोवारोव को एक मानक-शासन दंड कॉलोनी में चार साल की सजा सुनाई गई है.” आंद्रेई पिवोवारोव आठ साल तक किसी भी राजनीतिक पार्टी का संचालन नहीं कर पाएंगे. पिवोवारोव ने कोर्ट में कहा की रूस में बदलाव आएगा ज़रूर. चाहें वो अभी आए या बाद में लेकिन ज़रूर आएगा.

कहा की, “भले ही अब भविष्य के लिए खड़े होने वालों को कुचला और कैद किया गया हो,  मुझे पता है कि प्रगति को रोका नहीं जा सकता है. बेहतरी के लिए किए गए परिवर्तन को कोई हरा नहीं सकता.” पिवोवरोव राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के नवीनतम आलोचक रहें हैं. इसके पहले जनवरी 2021 में विपक्षी नेता एलेक्सी नवलनी की गिरफ्तारी हुई थी और वो जेल भी गए थे.  24 फरवरी को पुतिन द्वारा यूक्रेन में सैनिकों को भेजने के बाद, क्रेमलिन के शेष आलोचकों पर सार्वजनिक रूप से युद्ध की निंदा करने के आरोपों का सामना करना पड़ा. जिसके बाद लोगों के जेल जाने का सिलसिला और तेज़ हो गया है.

रूस में सभी मीडिया आउटलेट हुई निलंबित

Aljazeera की ख़बर के मुताबिक, सभी प्रमुख स्वतंत्र मीडिया आउटलेट बंद या निलंबित कर दिए गए हैं, इंस्टाग्राम और फेसबुक पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, और यूक्रेन में मास्को के आक्रामक की किसी भी आलोचना को गैरकानूनी घोषित कर दिया गया है. बता दें की, शुक्रवार को भी  रूसी अधिकारियों ने दो खोजी समाचार आउटलेट्स को अमानवीय घोषित कर दिया गया.

बता दें की, अभियोजक जनरल के कार्यालय ने रूस की राज्य समाचार एजेंसी टैस को बताया कि, जांच समूह बेलिंगकैट और रूसी ऑनलाइन आउटलेट द इनसाइडर साथ ही चेक गैर-लाभकारी सीईईएलआई संस्थान के साथ जुड़े हैं. जो रूस के संवैधानिक आदेश और सुरक्षा की नींव के लिए खतरा पैदा कर सकते हैं. बता दें की, बहुत से अधिकारियों को रूस के आक्रामक बर्ताव का सामना करना पद रहा है. कुछ अधिकारी देश छोड़ कर चले गए हैं और कुछ जेल में बंद हैं.

मिली जानकारी के मुताबिक, इस सप्ताह की शुरुआत में मास्को (Moscow) की एक अदालत ने एक अन्य शीर्ष विपक्षी व्यक्ति, इल्या यशिन (Ilya Yashin) को रूसी सेना के बारे में गलत जानकारी फैलाने के आरोप में जांच और परीक्षण के लिए हिरासत में भेज दिया है. बता दें की, , इल्या यशिन (Ilya Yashin) उन कुछ प्रमुख विपक्षी राजनेताओं में से एक थे जिन्होंने रूस नहीं छोड़ा था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.