Amazon ने बनाई करीब 10,000 कर्मचारियों को कंपनी से निकालने की योजना

Amazon: अमेज़न कथित तौर पर इस सप्ताह में लगभग 10,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की योजना बना रहा है. द न्यूयॉर्क टाइम्स के अनुसार अमेज़न (Amazon) अपने इतिहास में ये सबसे बड़ी छटनी करने जा रहा है. अमेज़ॅन ने 2001 में डॉट-कॉम क्रैश के दौरान लगभग 1,500 कर्मचारियों को निकाल दिया था.

Amazon कर रहा बड़े पैमाने पर छटनी

इंडिया टुडे से मिली जानकारी के मुताबिक, कंपनी के कर्मचारियों में पिछले 20 वर्षों में काफी वृद्धि हुई है. वर्तमान में, अमेज़ॅन (Amazon) वैश्विक स्तर पर 1.5 मिलियन से अधिक कर्मचारियों को रोजगार देता है. हाल ही में, मेटा और ट्विटर जैसे अमेरिकी टेक दिग्गजों ने भी मौजूदा मैक्रोइकॉनॉमिक मुद्दों और गिरते राजस्व के कारण हजारों कर्मचारियों को निकाल दिया था.

रिपोर्ट बताती है कि अमेजन (Amazon) की छंटनी से रिटेल डिवीजन के कर्मचारियों और मानव संसाधन पर असर पड़ेगा. रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेज़न के वर्चुअल असिस्टेंट एलेक्सा पर काम करने वाले कई कर्मचारी भी अपनी नौकरी खो देंगे.

Amazon ने बनाई करीब 10,000 कर्मचारियों को कंपनी से निकालने की योजना
Amazon ने बनाई करीब 10,000 कर्मचारियों को कंपनी से निकालने की योजना

छटनी की लहर अब तेज़ होती जा रही है

अमेज़ॅन (Amazon) के कॉर्पोरेट कर्मचारियों के लगभग 3% का प्रतिनिधित्व करेगी. प्रौद्योगिकी क्षेत्र में छंटनी की लहर तेज़ी से लोगों को बेरोजगार कर रही है. पिछले हफ्ते ही, फेसबुक के पैरेंट मेटा प्लेटफॉर्म्स इंक ने कहा कि वह लागत पर लगाम लगाने के लिए 11,000 से अधिक कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा रही है.

सिएटल स्थित अमेज़ॅन (Amazon) आम तौर पर छुट्टियों के मौसम के लिए बिक्री वृद्धि में मंदी की भविष्यवाणी कर रहा है. विशेष रूप से, द वॉल स्ट्रीट जर्नल ने पिछले हफ्ते बताया कि अमेज़ॅन के सीईओ एंडी जेसी एलेक्सा विभाग की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं. जिसमें लगभग 10,000 कर्मचारी हैं. रिपोर्ट में दावा किया गया है कि विभाग लाभदायक नहीं रहा है. और सालाना 5 अरब डॉलर के घाटे में चल रहा है.

कंपनी के इतिहास में यह सबसे बड़ी छटनी है

बता दें की, कंपनी के इतिहास में यह सबसे बड़ी छंटनी होने की उम्मीद है. अमेज़ॅन के खुदरा, उपकरण और मानव संसाधन विभाग पर बड़े पैमाने पर प्रभाव पड़ने की संभावना है. इससे पहले ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट में इस बात पर प्रकाश डाला गया था कि कैसे अमेज़न बड़े पैमाने पर लागत में कटौती कर रहा है. ब्लूमबर्ग द्वारा अक्टूबर में रिपोर्ट किया गया था की लागत में कटौती को कंपनी के उपायों के हिस्से के रूप में देखा है.

जानकारों का कहना है की, लेकिन कमजोर प्रदर्शन और खराब आर्थिक स्थिति को देखते हुए नौकरियों में कटौती आश्चर्यजनक नहीं है. जैसा कि बताया गया है की अमेज़ॅन एकमात्र ऐसी कंपनी नहीं है जो वैश्विक व्यापक आर्थिक स्थितियों के बुरे वक़्त का सामना कर रही है.

ट्विटर के नए मालिक एलोन मस्क ने इस महीने की शुरुआत में 3,500 से अधिक कर्मचारियों को निकाल दिया था. मेटा ने भी नवंबर में लगभग 11,000 की छंटनी की थी. यह भी कंपनी के इतिहास में सबसे बड़ी छंटनी की है.  कंपनी का मानना है कि आने वाले दिनों में तेजी से Amazon में रोबोटिक सिस्टम को इंस्टॉल किया जाएगा, जो प्रोडक्ट पैकेजिंग और डिलीवरी का काम करेंगे.

Leave a Reply