कश्मीर के आतंकी फंडिंग केस में सज़ा काट रहे Altaf Ahmad Shah की हुई मौत

Altaf Ahmad Shah: जेल में बंद कश्मीरी अलगाववादी नेता और दिवंगत हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद अल्ताफ शाह (Altaf Ahmad Shah) का नई दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में निधन हो गया है. उन्हें कुछ दिन पहले इलाज के लिए तिहाड़ जेल से एम्स में शिफ्ट किया गया था.

Altaf Ahmad Shah तिहाड़ जेल में थे कैद

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, दिवंगत हुर्रियत नेता सैयद अली शाह गिलानी के दामाद और कश्मीरी अलगाववादी नेता अल्ताफ अहमद शाह (Altaf Ahmad Shah) की मंगलवार तड़के यहां अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) में कैंसर से मौत हो गई है.

अल्ताफ शाह की बेटी ने एक ट्वीट में कहा कि “उन्होंने अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS), नई दिल्ली में एक कैदी के रूप में अंतिम सांस ली.” श्रीनगर के सौरा इलाके के रहने वाले हुर्रियत नेता को 25 जुलाई, 2017 को छह अन्य लोगों के साथ राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) द्वारा जांचे गए एक कथित आतंकी फंडिंग मामले में गिरफ्तार किया गया था और उसके बाद उनको तिहाड़ जेल में कैद कर दिया गया था.

उनके परिवार ने अतीत में अल्ताफ शाह (Altaf Ahmad Shah) के लिए जमानत पर रिहा होने या बेहतर चिकित्सा देखभाल के लिए कई अपील की थी. जो वर्षों से हाई ब्लडप्रेशर और मधुमेह से पीड़ित थे. दिल्ली उच्च न्यायालय ने 1 अक्टूबर को आदेश दिया था कि शाह को गुर्दे के कैंसर का पता चलने के बाद दिल्ली के एम्स में भर्ती कराया जा रहा है.

शाह के परिवार ने कही ये बातें

शाह (Altaf Ahmad Shah) के परिवार ने मीडिया से बात कर के बताया की, “रात 10:30 बजे सोमवार, उनका अस्पताल में निधन हो गया. जब वह बात कर रहे थे तो डॉक्टर ने हमें उनसे नहीं मिलने दिया. जब उन्होंने (शाह) बात करना बंद कर दिया. तो डॉक्टर ने हमें अनुमति दी.”

परिवार ने कहा कि जेल में लंबी बीमारी के बाद 24 सितंबर को शाह को नई दिल्ली के राम मनोहर लोहिया अस्पताल ले जाया गया था. एक हफ्ते बाद, उन्हें गुर्दे के कैंसर का पता चला था.

उनकी बेटी, पत्रकार रुवा शाह ने अपने पिता के बिगड़ते स्वास्थ्य को उजागर करने और बेहतर इलाज की मांग करने के लिए ट्विटर पर लिखा था की, “मेरे पिता ने भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह को भी पत्र लिखकर स्वास्थ्य आधार पर जमानत की अपील की है, उनकी हालत ठीक नहीं है.”

Altaf Ahmad Shah
Altaf Ahmad Shah

रुवा शाह ने 30 सितंबर को एक ट्वीट में कहा था की, “मेरे पिता को तीव्र गुर्दे के कैंसर का निदान किया गया है जिसमें मेटास्टेसिस है और उसकी हड्डियों सहित उसके शरीर के अन्य हिस्सों में फैल गया है. यह मेरे पूरे परिवार का अनुरोध है कि कृपया हमें उन्हें देखने और स्वास्थ्य आधार पर उनकी जमानत अर्जी पर विचार करने की अनुमति दें.”

Ruwa Shah का अधिकारिक ट्वीट…

शाह और छह अन्य प्रमुख कश्मीरी स्वतंत्रता समर्थक नेताओं को 2017 में भारत की राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) ने कथित मनी लॉन्ड्रिंग के आरोप में गिरफ्तार किया था. दो साल बाद, नई दिल्ली ने एकतरफा रूप से विवादित क्षेत्र की विशेष स्थिति (Article 370) को खत्म कर दिया और अधिक कश्मीरी राजनेताओं और कार्यकर्ताओं को सलाखों के पीछे डाल दिया था.

Leave a Reply