Assam में अलकायदा से जुड़े आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़ , 11 आतंकवादी गिरफ्तार

भारत के पूर्वोत्तर राज्य असम (Assam) में एक बड़ी कार्रवाई में, भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा और बांग्लादेश स्थित अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (ABT) सहित वैश्विक आतंकी संगठनों के साथ कथित संबंधों के लिए 11 लोगों को हिरासत में लिया गया है। हिरासत में लिए गए व्यक्तियों में से एक राज्य में मदरसा शिक्षक भी था।

असम (Assam) पुलिस के अनुसार, असम के मोरीगांव, बारपेटा, गुवाहाटी और गोलपारा जिलों से कल हिरासत में लिए गए 11 लोगों का संबंध AQIS (भारतीय उपमहाद्वीप में अल-कायदा )और ABT (अंसारुल्लाह बांग्ला टीम) से होने के कारण ‘इस्लामी कट्टरपंथ’ से है। इन सभी पर नियमानुसार आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गिरफ्तार आतंकियों से अधिक जानकारी की उम्मीद

असम (Assam) के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने राज्य में “जिहादी मॉड्यूल” पर नकेल कसने पर कहा कि इन गिरफ्तारियों से बहुत सारी जानकारी की उम्मीद है।”कल से आज तक, हमने असम के बारपेटा और मोरीगांव जिलों में दो जिहादी मॉड्यूल पकड़े हैं और जिहादी मॉड्यूल से जुड़े सभी लोगों को गिरफ्तार किया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य पुलिस और राष्ट्रीय पुलिस एजेंसियों के साथ समन्वित कार्रवाई से “कल से आज तक, हमने असम के बारपेटा और मोरीगांव जिलों में दो जिहादी मॉड्यूल पकड़े हैं और जिहादी मॉड्यूल में शामिल सभी लोगों को गिरफ्तार किया है और इन गिरफ्तारियों से हमें इनके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त होगी।

असम पुलिस के अनुसार मुस्तफा उर्फ मुफ्ती मुस्तफा जो इस मामले का एक आरोपी है, मोरीगांव जिले के सहरिया गांव का रहने वाला है, और अंसारुल्लाह बांग्ला टीम (ABT) का सक्रिय सदस्य है, जो भारतीय उपमहाद्वीप में अलकायदा (AQIS) से जुड़ा हुआ है। वह भारत में ABT मॉड्यूल का एक महत्वपूर्ण वित्तीय माध्यम है।

पुलिस ने बताया कि मुस्तफा सहरिया गांव गांव में एक मदरसा (जमीउल हुडा मदरसा) चलाता है, जिसे हिरासत में लिए गए लोगों का सुरक्षित घर होने का संदेह होने के बाद पुलिस ने सील कर दिया है। पुलिस के अनुसार, “मदरसे की गतिविधियों को गैरकानूनी गतिविधियों की आय के माध्यम से वित्त पोषित किया जा रहा था। यह हिरासत में लिए गए व्यक्तियों सुरक्षित घर होने का संदेह है।”

By Satyam

Leave a Reply