फ्लाइट में नशे में थे पंजाब के सीएम भगवंत मान, AAP ने इस दावे को किया ख़ारिज

AAP: पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान जर्मनी के आठ दिवसीय दौरे से लौटे हैं. वह पंजाब में निवेश की तलाश में जर्मनी में थे. लेकिन उनकी अधिकांश यात्रा अभी भी विवादों में घिरी हुई थी. बीएमडब्ल्यू की भारतीय शाखा द्वारा पंजाब में शाखा खोलने की किसी भी योजना से इनकार करने के बाद पंजाब के मुख्यमंत्री की देरी से वापसी के बारे में अफवाहें फैल रही हैं.

नशे में थे पंजाब के सीएम भगवंत मान

ANI से मिली जानकारी के मुताबिक, पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान जर्मनी से वापस लौट रहे थे. आखिरी वक्त पर उनको फ्लाइट छोड़नी पड़ी. सोशल मीडिया का दावा है कि मुख्यमंत्री मान को नशे में होने के कारण फ्रैंकफर्ट में विमान से उतरा गया था.

इसके अलावा विपक्षी पार्टियों के नेता भी यही आरोप लगा रहे हैं. शिरोमणि अकाली दल के नेता सुखबीर सिंह बादल ने ट्विटर पर कहा की,

“सह-यात्रियों के हवाले से मीडिया में आ रही खबरों में कहा गया है कि पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान को लुफ्थांसा की उड़ान से उतारा गया क्योंकि वह चलने के लिए बहुत नशे में थे. और इससे 4 घंटे की उड़ान में देरी हुई. वह आप के राष्ट्रीय अधिवेशन से चूक गए. इन रिपोर्टों ने पूरी दुनिया में पंजाबियों को शर्मिंदा और शर्मिंदा किया है. चौंकाने वाली बात यह है कि पंजाब सरकार अपने मुख्यमंत्री से जुड़ी इन खबरों पर चुप है.”

भगवंत मान की फ्लाइट की रिपोर्ट जो लेट हुयी थी
भगवंत मान की फ्लाइट की रिपोर्ट जो लेट हुयी थी

मलविंदर सिंह कांग ने कहीं ये बातें

आम आदमी पार्टी (AAP) ने मान के खिलाफ आरोपों को निराधार बताते हुए खारिज कर दिया है. मुख्य प्रवक्ता (AAP) मलविंदर सिंह कांग ने कहा कि पंजाब के सीएम समय पर नई दिल्ली लौट आए थे. मुख्य प्रवक्ता मलविंदर सिंह कांग ने कहा की,

“मुख्यमंत्री अपने कार्यक्रम के अनुसार लौटे. उन्होंने 18 सितंबर को जर्मनी से वापसी की उड़ान भरी. उन्हें 19 सितंबर को नई दिल्ली में उतरना था. विपक्ष द्वारा लगाए जा रहे आरोप निराधार, बकवास और झूठे प्रचार हैं.”

इस बीच, लुफ्थांसा समूह ने एक बयान में कहा कि “देरी से आने वाली उड़ान और एक विमान परिवर्तन के कारण उड़ान देर से रवाना हुई थी.” बयान में आगे कहा गया है की, “डेटा सुरक्षा कारणों से हम व्यक्तिगत यात्रियों के बारे में कोई जानकारी नहीं देते हैं.”

इसके पहले भी सीएम मान पर लग चुगे हैं आरोप

जानकारी के लिए बता दें की, पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश और चंडीगढ़ में सिख धर्मस्थलों के प्रबंधन के लिए जिम्मेदार शिरोमणि गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी (एसजीपीसी) ने ये आरोप लगाया था कि मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान ने तख्त दमदमा साहिब में नशे की हालत में प्रवेश किया था.

अमृतसर में जारी एक विज्ञप्ति में, एसजीपीसी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष रघुजीत सिंह विर्क ने कहा कि शराब के नशे में मुख्यमंत्री ने सिख समुदाय के एक उच्च सम्मानित आध्यात्मिक स्थल का दौरा किया और सिख राहत मर्यादा  का उल्लंघन किया था.

मुख्यमंत्री मान को अपनी गलती स्वीकार करने और पूरे सिख समुदाय से माफी मांगने को कहा गया था. जानकारों का कहना था की सीएम के आचरण से पता चलता है कि उन्होंने गुरु घर को उचित सम्मान नहीं दिया. इस तरह उन्होंने सीएम के संवैधानिक पद की प्रतिष्ठा को भी कम किया है.

One thought on “फ्लाइट में नशे में थे पंजाब के सीएम भगवंत मान, AAP ने इस दावे को किया ख़ारिज”

Leave a Reply

Your email address will not be published.