Assam-Meghalaya सीमा पर हुई 6 लोगों की मौत, मेघालय के 7 जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित

Assam-Meghalaya: मेघालय ने दोनों राज्यों के बीच सीमा (Assam-Meghalaya) पर पश्चिम जयंतिया हिल्स में मुकरोह में गोलीबारी में असम (Assam-Meghalaya) के एक वन अधिकारी सहित छह लोगों के मारे जाने के बाद 48 घंटे के लिए राज्य के सात जिलों में मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को निलंबित कर दिया है.

Assam-Meghalaya सीमा पर छिड़ा विवाद

NDTV से मिली जानकारी के मुताबिक, मंगलवार तड़के पश्चिम कार्बी आंगलोंग जिले में असम-मेघालय सीमा (Assam-Meghalaya) पर हिंसा में एक वन रक्षक सहित छह लोगों की मौत हो गई है. अधिकारियों ने कहा कि अवैध लकड़ी ले जा रहे एक ट्रक को रोके जाने के बाद हिंसा की सूचना मिली है.

एक अन्य अधिकारी ने कहा कि इस घटना के बाद असम पुलिस ने मेघालय की सीमा (Assam-Meghalaya) से लगे सभी जिलों में कानून व्यवस्था की किसी भी संभावित स्थिति को विफल करने के लिए अलर्ट जारी कर दिया है.

अवैध लकड़ी ले जा रहे लोगों का रोका गया था ट्रक

पश्चिम कार्बी आंगलोंग के पुलिस अधीक्षक इमदाद अली ने कहा कि असम वन विभाग की टीम ने मेघालय के पश्चिम जयंतिया हिल्स जिले की ओर अवैध लकड़ी ले जा रहे मुकरू इलाके में ट्रक को तड़के करीब तीन बजे रोक लिया गया था. जैसे ही ट्रक ने भागने की कोशिश की, वन रक्षकों ने उस पर फायरिंग कर दी और एक टायर की हवा निकाल दी थी. उन्होंने कहा कि वाहन के चालक, अप्रेंटिस और एक अन्य व्यक्ति को पकड़ लिया गया था.

Assam-Meghalaya सीमा पर हुई 6 लोगों की मौत, मेघालय के 7 जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित
Assam-Meghalaya सीमा पर हुई 6 लोगों की मौत, मेघालय के 7 जिलों में इंटरनेट सेवा निलंबित

अधिकारी ने कहा कि पुलिस के मौके पर पहुंचने के बाद सुबह करीब पांच बजे मेघालय (Assam-Meghalaya) से बड़ी संख्या में लोग ‘दाऊस’ (कटार) और अन्य हथियारों से लैस होकर घटनास्थल पर जमा हो गए थे.

पुलिस को करनी पड़ी थी फायरिंग

अली ने कहा कि भीड़ ने गिरफ्तार किए गए लोगों की तत्काल रिहाई की मांग करते हुए वन रक्षकों और पुलिस कर्मियों का घेराव किया और उन पर हमला किया. जिसके बाद पुलिस को स्थिति को नियंत्रण में लाने के लिए फायरिंग करनी पड़ी.

मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड संगमा ने पुष्टि की कि इस घटना में मेघालय के पांच और असम वन रक्षक सहित कुल छह लोगों की मौत हुई है. मुख्यमंत्री ने कहा की, “घायलों को अस्पताल ले जाया गया है और पूछताछ की जा रही है. मेघालय पुलिस ने एक प्राथमिकी दर्ज की है.”

मेघालय सरकार ने जारी की अधिसूचना

इस बीच, मेघालय सरकार द्वारा आज जारी अधिसूचना में कहा गया है की, “पुलिस मुख्यालय, मेघालय, शिलॉन्ग से रिपोर्ट प्राप्त हुई है कि मुकरोह, पश्चिम जयंतिया हिल्स, जोवई में एक अप्रिय घटना हुई है. जिससे सार्वजनिक शांति और शांति भंग होने की संभावना है. और पश्चिम जयंतिया हिल्स, पूर्वी जयंतिया हिल्स, ईस्ट खासी हिल्स, री-भोई, ईस्टर्न वेस्ट खासी हिल्स, वेस्ट खासी हिल्स और साउथ वेस्ट खासी हिल्स में सार्वजनिक सुरक्षा के लिए खतरा पैदा करता है. जिससे कानून और व्यवस्था बिगड़ सकती है.”

आगे बताया गया है की, मेघालय राज्य में शांति भंग करने के लिए मीडिया (व्हाट्सएप और सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, ट्विटर, यूट्यूब आदि) के दुरुपयोग को रोकने और कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए गृह पुलिस विभाग, मेघालय के सचिव सीवीडी डेंगदोह ने इस अधिसूचना को लागू कर दिया है.

 

Leave a Reply