Pakistan: पाकिस्तान के जलवायु परिवर्तन मंत्री सीनेटर शेरी रहमान ने सोमवार को कहा कि विश्व बैंक ने हाल ही में आई विनाशकारी बाढ़ के कारण पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था को 40 अरब डॉलर के नुकसान का अनुमान लगाया है. जियो न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तान (Pakistan) में इस साल अभूतपूर्व मानसूनी बारिश हुई है. जिसमें 1,700 लोग मारे गए 20 लाख घर तबाह हो गए और एक तिहाई देश पानी में डूब गया है.

Pakistan का हाल है बेहाल

पाकिस्तानी मीडिया एजेंसी से मिली खबर के मुताबिक, पाकिस्तान (Pakistan) को भीषण बाढ़ के कारण 40 अरब डॉलर से अधिक का आर्थिक नुकसान हो सकता है. एक रिपोर्ट में यह अनुमान लगाया गया है. यह आंकड़ा संयुक्त राष्ट्र (United Nations) महासचिव एंटोनियो गुटेरेस के 30 अरब डॉलर के आकलन से भी अधिक है. वह पिछले सप्ताह पाकिस्तान की यात्रा पर थे.

विश्व बैंक का अनुमान Pakistan में बाढ़ से 40 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ नुकसान
विश्व बैंक का अनुमान Pakistan में बाढ़ से 40 अरब अमेरिकी डॉलर का हुआ नुकसान

ट्विटर पर ट्वीट कर के सीनेटर रहमान ने कहा कि “पाकिस्तान में आई बाढ़ ने बुनियादी ढांचे, फसलों, घरों और सड़कों को अनुमानित नुकसान पहुँचाया है. उन्होंने कहा कि विश्व बैंक की रिपोर्ट बताती है कि बाढ़ के कारण लगभग नौ मिलियन पाकिस्तानियों को गरीबी में मजबूर होना पड़ेगा.”

पाकिस्तान (Pakistan) के बाढ़ प्रभावित इलाकों में फैल रही जल जनित बीमारियों (water-borne diseases) के बारे में बोलते हुए मंत्री ने कहा कि देश में स्वास्थ्य संकट अब गहराता जा रहा है. पीपीपी (Pakistan Peoples Party) नेता ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मानवीय संकट के दौरान पीड़ितों की मदद करने का आग्रह किया. पिछले हफ्ते, विश्व बैंक की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि बाढ़ के प्रत्यक्ष परिणाम के रूप में पाकिस्तान की गरीबी दर 2.5 से 4 प्रतिशत अंक के बीच बढ़ने की उम्मीद है.

बाढ़ से प्रभावित क्षेत्रों में हुआ है यह नुकसान

नौकरियों पशुधन, फसल, और घर का नुकसान हुआ है. स्कूलों को बंद करना पड़ा. साथ ही साथ बीमारियाँ भी तेज़ी से बढ़ रहीं हैं. विश्व बैंक ने कहा कि वित्त वर्ष 2023 में देश में महंगाई दर 23 फीसदी रहने का अनुमान है.

प्रारंभिक मूल्यांकन रिपोर्ट बनाने में शामिल वित्त मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार, अगर घाटा बढ़कर 40 अरब डॉलर हो जाता है, तो इसका मतलब है कि इस साल पाकिस्तान की आर्थिक वृद्धि नकारात्मक हो सकती है. साथ ही आपूर्ति श्रृंखला में बाधाओं की वजह से मुद्रास्फीति 30 प्रतिशत को पार कर सकती है.

पाकिस्तान के राजुल नूर ने मीडिया से बात की और उन्होंने अपना दुःख बताया की, इस गर्मी में भारी बारिश के कारण आई बाढ़ से राजुल नूर के जीवन का हर हिस्सा तबाह हो गया है.

कपास की फसल को भी हुआ भारी नुकसान

जिले की लगभग 100% कपास (Cotton) और चावल की फसल नष्ट हो गई है. स्थानीय अधिकारियों का कहना है कि इसके आधे से अधिक प्राथमिक और माध्यमिक विद्यालय पूरी तरह या आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गए हैं. इमारतें बारिश बंद होने के हफ्तों बाद भी आंशिक रूप से जलमग्न हैं. इस स्तर की क्षति पाकिस्तान भर के कस्बों और शहरों में दिखाई दे रही है.

रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए इस्माइल ने पाकिस्तान में भयावह बाढ़ की वजह से नष्ट हुई कपास की फसल के बारे में बारे में बात की थी. उन्होंने कहा था कि बाढ़ से 3.3 करोड़ लोग प्रभावित हुए हैं.

Leave a Reply