Ladakh में हुआ बड़ा हादसा टिपर ट्रक पलटने से गई 2 लोगों की जान, 10 लोगों की हालत गंभीर

Ladakh: लद्दाख (Ladakh) के ससोमा-ससेर ला इलाके में बुधवार को सड़क निर्माण कार्य के दौरान एक जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स (GREF) का टिपर ट्रक पलट गया. रक्षा अधिकारियों ने बताया कि घायलों का अस्पताल में इलाज चल रहा है. रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने हुई मौतों पर शोक व्यक्त किया है और ट्विटर पर घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना की है.

Ladakh में हुआ बड़ा हादसा

न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक, रक्षा अधिकारियों ने गुरुवार को कहा कि लद्दाख (Ladakh) के ससोमा-सासेर ला इलाके में बुधवार को एक जनरल रिजर्व इंजीनियर फोर्स (GREF) टिपर ट्रक के गिरने से दो लोगों की मौत हो गई और दस अन्य घायल हो गए है.

रक्षा अधिकारियों ने कहा, “लद्दाख (Ladakh) क्षेत्र में कल 12 लोगों के साथ एक टिपर गिर गया था. उस वक़्त  सड़क निर्माण कार्य चल रहा था. इसमें दो लोगों की मौत हो गई, जबकि अन्य घायल हो गए हैं. घायलों का इलाज किया जा रहा है.”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट किया, “लद्दाख (Ladakh) के ससोमा-ससेर ला इलाके में एक जीआरईएफ टिपर के गिरने से हुए कीमती जान के नुकसान से बेहद दुखी हूं. मेरी संवेदनाएं शोक संतप्त परिवारों के साथ हैं. घायलों को जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं.”

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह का अधिकारिक ट्वीट…

लद्दाख में सेना की बस के गिरने से 7 सैनिकों की हुई थी मौत

लद्दाख (Ladakh) के तुरतुक सेक्टर में एक वाहन दुर्घटना में भारतीय सेना के जवानों के सात जवान शहीद हो गए थे. जबकि कई अन्य गंभीर रूप से घायल हो गए थे. सेना के अधिकारियों ने कहा कि उन्हें ले जा रहा एक वाहन शुक्रवार (27 मई) को सड़क से फिसलकर लद्दाख में श्योक नदी में गिर गया था.

उन्होंने बताया कि दुर्घटना टुकटुक सेक्टर में सुबह करीब नौ बजे लेह जिले के नुब्रा क्षेत्र में थोइस से करीब 25 किलोमीटर दूर एक जगह पर हुई थी. शहीद हुए भारतीय सेना के सात जवानों की पहचान सूबेदार शिंदे विजय राव सरजेराव, नायब सब गुरुदयाल साहू, एल/हवलदार एमडी सैजल टी, नायक संदीप पाल, जादव प्रशांत शिवाजी और रामानुज कुमार, लांस नायक बप्पादित्य खुटिया के रूप में हुई थी.

वाहन सड़क से फिसल गया था

अधिकारियों ने बताया कि 26 जवानों का एक दल परतापुर ट्रांजिट कैंप से उप सेक्टर हनीफ की ओर जा रहा था. अधिकारियों ने बताया कि वाहन सड़क से फिसल गया और 50-60 फीट की गहराई में नदी में गिर गया, जिससे वे सभी घायल हो गए. अधिकारियों ने बताया कि बचाव अभियान तेजी से चलाया गया और सभी सैनिकों को परतापुर के फील्ड अस्पताल में पहुंचाया गया.

वहां मौजूद एक अधिकारिक अधिकारी ने PTI को बताया था की, “सात व्यक्तियों को घातक घोषित किया गया है. अन्य लोगों को भी गंभीर चोटें आई हैं. यह सुनिश्चित करने के लिए समर्पित प्रयास चल रहे हैं कि घायलों को सर्वोत्तम चिकित्सा देखभाल प्रदान की जाए.”

इस घटना पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने  दुःख जताया था. रक्षा मंत्री ने ट्वीट किया था की, लद्दाख में एक बस हादसे की खबर से दुख हुआ. इसमें कई जवानों की जान चला गई. शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी संवेदनाएं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की प्रार्थना करता हूं.”

 

Leave a Reply