Indonesia में आए भूकंप से मरने वालों की संख्या 162 के पार पहुंची

Indonesia: इंडोनेशिया (Indonesia) के पश्चिम जावा प्रांत में सोमवार को आए शक्तिशाली भूकंप में 160 से अधिक लोगों की मौत हो गई है. जबकि अब बचावकर्मी भूकंप के बाद के झटकों के बीच मलबे में फंसे लोगों की तलाश कर रहे हैं.

5.6 तीव्रता के भूकंप का केंद्र राजधानी जकार्ता से लगभग 75 किमी दक्षिण-पूर्व में पहाड़ी पश्चिम जावा में सियांजुर शहर के पास था. इस क्षेत्र में 2.5 मिलियन से अधिक लोगों का घर है.

Indonesia में भूकंप से लोग अभी भी है सहमें

Aljazeera से मिली जानकारी के मुताबिक, पश्चिम जावा के गवर्नर रिदवान कामिल और एक स्थानीय अधिकारी ने कहा कि सोमवार (21 नवंबर) को इंडोनेशिया (Indonesia) के मुख्य द्वीप जावा में आए भूकंप से मरने वालों की संख्या बढ़कर 162 हो गई है. रिपोर्टों में कहा गया है कि 700 से अधिक लोग घायल हुए हैं. अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि मरने वालों की संख्या बढ़ सकती है.

पश्चिम जावा के गवर्नर रिदवान कामिल ने समाचार एजेंसी AFP द्वारा देखे गए एक वीडियो में कहा की, “मुझे यह बताते हुए दुख हो रहा है कि 162 लोग मारे गए हैं.” इंडोनेशिया (Indonesia) की आपदा न्यूनीकरण एजेंसी (BNPB) ने अभी भी मरने वालों की संख्या 162 बताई है और बचावकर्ता 25 लोगों की तलाश कर रहे हैं. जिनके बारे में माना जा रहा है कि वे मलबे में फंसे हुए हैं और इसके प्रवक्ता ने कहा कि खोज रात भर जारी रहेगी.

इतनी तेज़ आया था भूकंप

इंडोनेशिया (Indonesia) के पश्चिम जावा के सियानजुर शहर में स्थानीय प्रशासन के प्रवक्ता एडम ने भी मृतकों की संख्या की पुष्टि की है. भूकंप का केंद्र सियांजुर शहर था. जो राजधानी जकार्ता से 75 किमी दक्षिण-पूर्व में है. फिलहाल तो सुनामी का कोई खतरा नहीं था. भूकंप की तीव्रता 5.6 रिक्टर स्केल थी.

Indonesia में आए भूकंप से मरने वालों की संख्या 162 के पार पहुंची
Indonesia में आए भूकंप से मरने वालों की संख्या 162 के पार पहुंची

राष्ट्रीय आपदा एजेंसी (BNPB) ने एक संवाददाता सम्मेलन में बताया कि 700 से अधिक लोग घायल हुए हैं और 300 से अधिक घर क्षतिग्रस्त या नष्ट हो गए हैं. रॉयटर्स समाचार एजेंसी ने कहा कि भूकंप इतना तेज था कि लोग अपार्टमेंट और कार्यालयों से बाहर निकल आए थे.

बीएमकेजी (BMKG) की प्रमुख द्विकोरिता कर्णावती ने संसदीय भवन में संवाददाताओं से कहा कि भूकंप के बाद के झटकों की स्थिति में बाहर आ गए थे. अधिकारियों के मुताबिक, भूकंप के कारण सियानजुर में मामूली भूस्खलन हुआ था. फंसे दो लोगों को तो बचा लिया गया. लेकिन तीसरे की जान नहीं बच सकी.

2000 से ज्यादा घर हुए क्षतिग्रस्त

BNPB ने कहा कि 2,200 से अधिक घर क्षतिग्रस्त हो गए हैं और 5,300 से अधिक लोग अपना घर छोड़ चुगे हैं. अधिकारियों ने कहा कि बिजली गुल हो गई है, जिससे संचार बाधित हो रहा है. जबकि भूस्खलन की वजह से कुछ क्षेत्रों में निकासी में दिक्कत हो रही है.

अस्पताल की पार्किंग में सैकड़ों पीड़ितों का इलाज किया जा रहा है. कुछ का आपातकालीन टेंट के नीचे इलाज किया जा रहा है. सियानजुर में कहीं और, निवासी खुले मैदानों में या टेंटों में एक साथ इलाज करवा रहे हैं. उनके आसपास की इमारतें मलबे में तब्दील हो चुगी हैं. देर रात तक एंबुलेंस अभी भी अस्पताल पहुंच रही हैं. जिससे और लोग अस्पताल आ रहे हैं.

Leave a Reply